हमारे बारे में


इतिहास

" एक अच्छा बैंक न केवल समाज का वित्तीय हृदय होता है, बल्कि आम आदमी की आर्थिक स्थिति को सुधारने के लिए हर संभव तरीके से प्रयास करना उसकी जिम्मेदारी है
हमारे प्रिय संस्थापक स्वर्गीय श्री अम्मेम्बाल सुबबाराव पै
एक महान मानवप्रेमी, स्वर्गीय श्री अम्मेम्बाल सुब्बाराव पै द्वारा वर्ष 1906 में " केनरा हिन्दु परमानेंट फंड " नाम से बोया गया यह छोटा-सा बीज 1910 में “ केनरा बैंक लिमिटेड ” नामक लिमिटेड कंपनी और 1969 में राष्ट्रीयकरण के बाद केनरा बैंक के रूप में पल्लवित हुआ।

स्थापना के सिद्धांत

  1. अंधविश्वास और अज्ञान को दूर करना
  2. पहले सिद्धांत की पूर्ति हेतु शिक्षा का प्रसार करना
  3. मितव्ययिता एवं बचत की आदत विकसित करना
  4. वित्तीय संस्था को न केवल समाज का वित्तीय हृदय बल्कि सामाजिक हृदय बनाना
  5. ज़रूरतमंदों की मदद करना
  6. सेवा और समर्पण की भावना के साथ काम करना
  7. सहजीवियों के प्रति चिंता तथा परिवर्तन लाने/तकलीफ और दिक्कतों को दूर करने की दृष्टि से परिवेश के प्रति संवेदना विकसित करना.
  8. स्थापना के मज़बूत सिद्धांत, प्रबुद्ध नेतृत्व, अनुपम कार्य-संस्कृति और बदलते बैंकिंग परिवेश में अपने आप को ढालने की अद्भुत क्षमता ने केनरा बैंक को विश्व स्तर की एक अग्रणी बैंकिग संस्था बना डाली है .

बैंक का संक्षिप्त रेखाचित्र

अपनी ग्राहकोन्मुखता के लिए व्यापक रूप से जाने-जानेवाले केनरा बैंक की स्थापना एक महान दूरद्रष्टा एवं समाज सेवी श्री अम्मंबाल सुब्बाराव पै द्वारा जुलाई 1906 में कर्नाटक के एक छोटे से पत्तन शहर, मंगलूर में की गयी । पिछले एक सौ वर्षों में बैंक ने अपनी प्रगति के पथ पर कई मंज़िलें तय की हैं । केनरा बैंक का विकास आश्चर्यजनक था, विशेषकर 1969 में राष्ट्रीयकरण के बाद , जाने भौगोलिक पहुँच और ग्राहक संवर्गों की दृष्टि से राष्ट्रीय स्तर की हैसियत प्राप्त की है । अस्सी के दशक में बैंक के व्यापार का विविधिकरण देखने को मिलता है । जून 2006 में बैंक ने भारतीय बैंकिंग उद्योग में एक शताब्दी पूरी कर ली । बैंक की सक्रिय यात्रा में कई महत्वपूर्ण मील-पत्थर हैं । आज केनरा बैकं भारतीय बैंकिंग की बिरादरी में एक अग्रणी स्थान प्राप्त किया है

दर्शन

लाभप्रदता, परिचालनात्मक दक्षता, आस्ति गुणवत्ता और जोखिम प्रबंधन में वैश्विक मानदंडों का संधान करते हुए तथा विश्व स्तर पर विस्तार के ज़रिए " उत्तम आचरणयुक्त बैंक " के रूप में उभरना ।
Read More

मिशन

अधिकाधिक ग्राहकोन्मुखता, हितधारकों के लिए उच्चतर मूल्य के सृजन सहित गुणतायुक्त बैंकिंग सेवाएं प्रदान करना और वाणिज्यिक लक्ष्यों का सामाजिक बैंकिंग के साथ प्रभावी मिश्रण के ज़रिए एक प्रतिक्रियाशील कॉर्पोरेट सामाजिक नागरिक बने रहना ।
Read More

पुरस्कार और उपलब्धियां

वर्ष 2016-17 के दौरान अब तक प्राप्त पुरस्कार व प्रशस्तियाँ :-
Read More

Last Updated on: 15/07/2021 |   Visitors: 2493